How to get treatment in AIIMS Delhi

ऐम्स अस्पताल में कैसे हम इलाज करा सकते हैं इस विषय पर मैं आपको पूरी जानकारी देने वाला हूं
How to get treatment in AIIMS Delhi- एम्स अस्पताल में इलाज कराने के लिए मरीज का एक आधार कार्ड और एक कोई भी मोबाइल नंबर जो मरीज के पास OPD card बनवाने के समय हो आपको दिल्ली एम्स पहुंचने के लिए बस ऑटो या मेट्रो सेबी आप बड़ी आसानी से AIIMS Hospital दिल्ली पहुंच सकते हैं।

AIIMS Hospital

मेट्रो स्टेशन बिल्कुल एम्स के गेट नंबर 1 पर ही है आपको अपॉइंटमेंट लेने के लिए एम्स अस्पताल के गेट नंबर एक से ही एंटर होना होगा जैसे ही आप गेट नंबर 1 में अंदर जाएंगे आपको सीधे हाथ की तरफ पीआरसी यानी पब्लिक रिसेप्शन सेंटर आपको दिखाई देगा

जिसमें आपको सुबह 6:00 बजे से पहले वहां पर पहुंच जाना होगा क्योंकि जब आप पहले पहुंचेंगे तो आपका नंबर भी ठीक समय पर आ जाएगा पीआरसी की विंडो नो बजे खुलती है और 11:00 बजे तक सुबह की खुली रहती है

मोबाइल को कंप्यूटर कैसे बनाएं

आपको वहां सुबह 6:00 बजे से लाइन लगानी होगी और 9:00 बजे जैसे ही खिड़की खुलेगी आपकी लाइन चलने स्टार्ट हो जाएगी और वहां पर आपको ज्यादा समय नहीं लगेगा क्योंकि अंदर बहुत सारे काउंटर बने होते हैं जिसकी वजह से जल्दी नंबर आ जाता है।

How to get register in PRC

आपको पीआरसी के आस-पास बहुत सारे वॉलिंटियर दिखाई देंगे जो आपकी सहायता के लिए वहां पर आपकी सहायता कर रहे होंगे अगर आपको कोई बात समझ में नहीं आ रही है तो आप उन वालंटियर से पूछ सकते हैं

वह आपकी पूरी सहायता करेंगे अब आपको पीआरसी से जो कार्ड बना होगा उसको आप गेट नंबर 1 के बराबर में ही एक काउंटर है वहां पर आकर आप ओपीडी के लिए डेट लेनी होगी और यह यह सब जानकारी आप वहां पर खड़े वालंटियर से भी ले सकते हैं कि आप मुझे क्या करना होगा वह आपकी पूरी सहायता करेंगे आप पूछताछ कक्ष पर भी जाकर जानकारी ले सकते हैं।

Meet to doctor in OPD

 जब आप ओपीडी के लिए डॉक्टर को दिखाने के लिए उस काउंटर से डेट ले लेंगे तो आपको वहां पर टाइम और डेट मिल जाएगी हो सकता है आपको ओपीडी की डेट एक-दो दिन बाद की मिले  ओपीडी में डॉक्टर को दिखाने के लिए जो आपके कार्ड पर दिनांक और समय डाला हुआ है

How to get treatment in AIIMS Delhi– आप उसी समय पर या पहले पहुंचकर गेट नंबर एक से ही आपको राजकुमारी ओपीडी की तरफ जाना है और वहां खड़े वॉलिंटियर्स या गार्ड साथी से भी आप जानकारी ले सकते हैं या पूछताछ कक्ष पर जाकर भी आप जानकारी ले सकते हैं कि  जो मेरे कार्ड पर ओपीडी कमरा नंबर है वह कहां पर है और आपको अपने उस ओपीडी कमरा नंबर पर पहुंच जाना है।

अब वहां पर डॉक्टर आपको सीरियल नंबर के हिसाब से बुलाएंगे और आपकी बीमारी से संबंधित इलाज करेंगे अगर आपकी बीमारी से संबंधित कोई जांच या टेस्ट की जरूरत डॉक्टर को होगी तो वह आपको जांच लिख कर दे देंगे और आपको बता दिया जाएगा की जांच की रिपोर्ट लेकर आपको कब आना है जांच आपकी एम्स अस्पताल में ही हो जाएंगी उसके लिए आपको जो मिनिमम चार्ज होता है।

How to get treatment in AIIMS Delhi– वह आपको कैश काउंटर पर जमा करना होगा कैश काउंटर पर आपको जो पर्ची दी जाएगी उस पर्ची को लेकर आपको जांच की के लिए डेट लेनी होगी अब जिस दिन आपको जांच के लिए डेट मिली है आप उस दिन आकर लिखे हुए समय और स्थान पर जांच करा लीजिए अगर आपकी बीमारी कुछ जटिल है या किसी स्पेशल विभाग के लिए हैं to OPD के डॉक्टर आपको उस संबंधित विभाग में रेफर कर देंगे  अब वहां पर भी  आपको उसी दिन उस संबंधित विभाग में डॉक्टर को दिखाने के लिए ओपीडी में डेट लेनी होगी।


 अब यहां पर आपकी फाइल सबमिट हो जाएगी जो भी टेस्ट है वह आपकी उस फाइल में ऐड होते चले जाएंगे आपको सिर्फ डॉक्टर को दिखाने के लिए डेट लेनी है आपको मिली हुई डेट के हिसाब से और टाइम के हिसाब से डॉक्टर को दिखाने के लिए उपस्थित होना है  आपके फाइल आपको डॉक्टर के कमरे में ही मिलेगी।

अगर किसी कारण बस फाइल आपकी डॉक्टर के कमरे में नहीं पहुंच पाती है तो आप रिकॉर्ड रूम पता करके  आप फाइल वहां से ले सकते हैं डॉक्टर को दिखाने के बाद अब आपको दवाई लेने की आवश्यकता होगी तो आप दवाइयां भी  निशुल्क प्राप्त कर सकते यहां पर  आपको जेनेरिक दवाइयां फ्री में हो सकता है।

कुछ दवाइयां आपको यहां से नहीं मिलपाएं तो आप वहां से कुछ ही दूरी पर हॉस्पिटल के अंदर ही आपको 60% तक की छूट की दवाइयांमिलेंगे अगर यहां से भी आपको पूरी दवाई नहीं मिल पाए तो आप सब दर्जन हॉस्पिटल की तरफ मेडिकल स्टोर से पैसे देकर दवाइयां ले सकते है यहां पर मैंआपको एक बात और साफ कर देना चाहता हूं की यह हॉस्पिटल ओपीडी मतलब कि डॉक्टर का चार्ज फ्री है  और बाकी दवाइयांया Test Operation आदि का चार्ज बाहर प्राइवेट अस्पताल से करीब 60% कम वसूला जाएगा।
धन्यवाद

(Visited 125 times, 1 visits today)

Leave a Comment